हरयाली तीज (Hariyali Teej) 5 अगस्त 2016 | बधाई | हार्दिक शुभकामनायें

hariyali teej Ki subh kamanaye hardik badhai wishes messages images in hindi 

सावन का है ये मास सुहाना
शुक्ल की तृतीया को नारीयों ने माना
खुशियों की लहरों के साथ हो
आपको हरयाली तीज की शुभकामना

हरयाली तीज की आपको बहुत-बहुत बधाई

भारत में कुछ माह को छोड दिया जाये तो बाकि हर माह में त्यौहारों की खुशियां हमेशा ही रहती है जिस कारण भारत को त्यौहारों का देश भी कहा जाता है। भारत में मौसम आते हैं और हर मौसम अपने साथ त्यौहारों की खुशियां लेकर आता है।
ऐसे ही सावन का महीना भी अपने साथ त्यौहार लेकर आता है। जिस त्यौहार से इस महीने की शुरूआत होती है वो अपने आप में ही खास है। नाम है – हरयाली तीज। इस त्यौहार का नाम से ही लगता है की ये त्यौहार मौसम के साथ-साथ हरयाली लेकर आता है।

hariyali teej Ki subh kamanaye hardik badhai wishes messages images in hindi

हरयाली तीज कब मनाई जाती है?

सावन के महीनें में त्यौहारों की भरमार है।
5 अगस्त को इस बार तीज का त्यौहार है।

हरयाली तीज की आपको हार्दिक शुभकामनायें

हरयाली तीज – जैसा कि नाम से ही इस त्यौहार का परिचय मिल रहा है कि ये त्यौहार हरयाली और खुशियां लाने वाला है। श्रावन मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को महिलाऐं हरयाली तीज के रूप में मनाती है। इस महीने धरा पर प्रकृति अपने यौवन रूप में होती है, पूरे शबाब के साथ मौसम अपने चरम में होता है और वसुंधरा पर चारों और हरयाली ही हरयाली दिखती है जिस कारण इस त्यौहार को हरयाली तीज कहा जाता है।

परंपरा और “आ गई तीज भर गई बीज, आ गई होली भर गई झोली” वाली कहावत के अनुसार तीज के त्यौहार को पर्वो के आगमन का प्रतीक माना जाता है। कहा जाता है कि त्यौहारों की शुरूआत तीज से होती है और फिर होली तक ये सिलसिला चलता रहता है।

haryali teez Ki subh kamanaye hardik badhai wishes messages images in hindi

hariyali teej Ki subh kamanaye hardik badhai wishes messages images in hindi

क्यों मनाते है हरयाली तीज

सावन का महीना, बहार मौसम की आई
मेरी धरा-वसुंधरा पर हरयाली है छाई
भारत की सभी महिलाओं को
हरियाली तीज की बहुत बहुत बधाई

जब भी सावन का महीना आता है अपने साथ कई त्यौहारों की भरमार लेकर आता है। ये  त्यौहार महिलाओं और अविवाहित युवतियों के लिए खास होता है। इस दिन महिलायें और अविवाहित युवतियां व्रत रखती हैं। व्रत को अविवाहित युवतियां अपनें लिए योग्य वर पाने के लिए एवं शादीशुदा महिलायें अपनें खुशी और लंबे दांपत्य जीवन के लिए रखती है। राजस्थान और मध्यप्रदेश खासतौर पर मालवांचल की महिलाएँ बहुत श्रद्धा और उत्साह से मनाती हैं। आस्था, उमंग, सौंदर्य और प्रेम का यह उत्सव हमारे सर्वप्रिय पौराणिक युगल शिव-पार्वती के पुनर्मिलन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

Happy-Teej-Celebration

हरयाली तीज के रीति-रिवाज –

  • हरयाली महिलाएँ पार्वतीजी का आशीष पाने के लिए कई रीति-रिवाजों का पालन करती हैं। विवाहित महिलाएँ अपने मायके जाकर ये त्योहार मनाती हैं।
  • जिन लड़कियों की सगाई हो जाती है, उन्हें अपने होने वाले सास-ससुर से सिंजारा मिलता है। इसमें मेहँदी, लाख की चूड़ियाँ, कपड़े (लहरिया) मिठाई विशेषकर घेवर शामिल होता है।
  • विवाहित महिलाओं को भी अपने पति, रिश्तेदारों एवं सास-ससुर के उपहार मिलते हैं। इस दिन महिलाएँ उपवास रखती हैं।
  • आकर्षक तरीके से सभी माँ पार्वती की प्रतिमा मध्य में रख आसपास महिलाएँ इकट्ठा होकर देवी पार्वती की पूजा करती हैं। विभिन्न गीत गाए जाते हैं।

2 Comments

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Festival Info © 2016 Frontier Theme
%d bloggers like this: